नई दिल्ली. मोदी सरकार में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज पर इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के पूर्व कमिश्नर ललित मोदी की मदद का आरोप लगा है. जानकारी के मुताबिक, ईडी के आरोपी ललित मोदी की सुषमा मदद कर रही थीं. इस संबंध में एक अंग्रेजी चैनल ने ई-मेल और कागजात होने का भी दावा किया है. दावा है कि ललित मोदी के ब्रिटेन से निकलने में सुषमा ने निजी तौर पर मदद करने की कथित तौर पर कोशिश की.

बताया जा रहा है कि 2013 में लोकसभा में विपक्ष के नेता पद पर रहते हुए सुषमा ने अपने एक रिश्तेदार के ब्रिटेन में एडमिशन के लिए ललित मोदी की मदद ली थी और इसके बदले में सुषमा पर ललित मोदी की मदद करने के आरोप लग रहे हैं.

विपक्ष ने की इस्तीफे की मांग
ललित मोदी के साथ कथित रिश्ते की खबर आते ही विपक्ष ने विदेश मंत्री सुषमा से इस्तीफे की मांग की है. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा है कि सुषमा स्वराज का ललित मोदी की मदद करना एक गंभीर मामला है. प्रधानमंत्री मोदी को इस पर सफाई देनी चाहिए कि क्या उन्हें इस मामले की जानकारी है या नहीं. कांग्रेस ने इस मुद्दे पर दोपहर तीन बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई है.

ब्रिटेन से निकलने में मदद का आरोप
सुषमा के मुताबिक, ”ललित ने मुझे बताया कि उन्होंने लंदन में ट्रैवेल डॉक्यूमेंट्स के लिए अप्लाई किया है और ब्रितानी सरकार यात्रा दस्तावेज देने के लिए तैयार है लेकिन UPA सरकार के एक सर्कुलर की वजह से वह ऐसा नहीं कर सकते क्योंकि इससे भारत-ब्रिटेन संबंधों पर असर पड़ेगा.” चैनल के हाथ लगे ई-मेल से यह भी पता चला है कि ललित मोदी के ब्रिटेन से निकलने में सुषमा ने निजी तौर पर मदद करने की कथित तौर पर कोशिश की. इस मामले में एक ब्रितानी सांसद ने भी ललित मोदी की मदद की है.