लखनऊ. लखनऊ. उत्तर प्रदेश के सीएम अखिलेश यादव अपने ही दल समाजवादी पार्टी के सिल्वर जुबली समारोह में 5 नवंबर को शामिल नहीं होंगे क्योंकि वो 3 नवंबर से समाजवादी विकास रथयात्रा पर निकल रहे हैं.
 
 
अखिलेश ने पार्टी प्रमुख और अपने पिता मुलायम सिंह यादव को एक पत्र लिखकर बुधवार को सूचित किया है कि वो 3 अक्टूबर से ही इस यात्रा पर जाने वाले थे लेकिन किसी कारण से वो शुरू नहीं हो सका.
 
 
अखिलेश ने दूसरे राजनीतिक दलों के चुनाव प्रचार की शुरुआत का हवाला देते हुए कहा है कि अब वो 3 नवंबर से चुनाव यात्रा पर निकल रहे हैं जिसके जरिए वो अपनी सरकार के विकास के काम से लोगों को अवगत कराएंगे.
 
 
अखिलेश ने अपनी यात्रा को विकास से विजय की ओर का राजनीतिक रूप देते हुए मुलायम सिंह को लिखे पत्र में ये भी कहा है कि यात्रा के कार्यक्रम की सूचना पार्टी के जिलाध्यक्षों और कार्यकर्ताओं को समय-समय पर भेजा जाएगा.
 
 
इस पत्र का एक मतलब तो ये निकला है कि वो 5 नवंबर को पार्टी के सिल्वर जुबली समारोह में शामिल नहीं होंगे. अखिलेश समर्थक कई नेताओं को पार्टी से निकालने के खिलाफ युवा संगठन इस कार्यक्रम का बहिष्कार करने की घोषणा कर चुके हैं.
 
 
अखिलेश यादव पहले पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष हुआ करते थे जो पद अब मुलायम सिंह ने अपने भाई शिवपाल सिंह यादव को दे दिया है. इस वजह से पार्टी संगठन एक तरह से अखिलेश के हाथ से बाहर है. इसलिए अखिलेश ने पत्र में लिखा है कि उनकी यात्रा की सूचना समय-समय पर पार्टी संगठन को दी जाती रहेगी.