रायपुर. छत्तीसगढ़ कांग्रेस ने मंगलवार को विधायक आरके राय को पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते निलंबित कर दिया है. आरके राय पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के करीबी बताए जाते हैं. यह फैसला छत्तीसगढ़ कांग्रेस समन्वय समिति की बैठक में लिया गया.
 
कांग्रेस महासचिव और छत्तीसगढ़ प्रभारी बीके हरिप्रसाद ने आरके राय को निलंबित करने की जानकारी दी. उन्होंने बताया कि आरके राय के निष्कासन के लिए अनुशासन समिति को राय भेज दी गई है. साथ ही बताया कि 2018 का चुनाव प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल और कांग्रेस विधायक दल के नेता टी.एस. सिंहदेव के नेतृत्व में ही लड़ा जाएगा. 
 
वहीं, विधायक आरके राय ने इस फैसले के लिए पार्टी का आभार जताया और कहा कि वो इस निलंबन से अब स्वतंत्र हैं. उन्होंने कहा कि उन पर इसलिए कार्रवाई की गई क्योंकि उन्होंने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के विरुद्ध टिप्पणी की थी.
 
निलंबित विधायक आरके राय ने राहुल गांधी की तरफ इशारा करते हुए कहा कि वो गधे को घोड़ा नहीं बोल सकते. उन्होंने कहा कि वह इस फैसले से दुखी नहीं हैं क्योंकि वह स्वतंत्र विचार वाले सच्चे और बेबाक आदिवासी हैं.