लखनऊ. यूपी की सत्‍ताधारी पार्टी के समाजवादी पार्टी के मुखिया इन दिनों अपने मुख्यमंत्री पुत्र से खासे नाराज नजर आ रहे हैं. मुलायम सिंह ने आज एक बार फिर से अखिलेश को नसीहत देते हुए कहा कि अखिलेश ये ना समझें कि प्रदेश में पार्टी को दोबारा बहुमत मिलने की स्थिति में वो ही मुख्यमंत्री बनेंगे. उन्होंने कहा कि पार्टी के विधायक और संसदीय बोर्ड उस बात का फैसला करेगा कि मुख्यमंत्री कौन होगा. 
 
यूपी के सीएम अखिलेश यादव के अकेले चुनाव प्रचार शुरू करने के बयान के बाद पार्टी सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने तेवर सख्त कर लिए हैं. मुलायम ने खरी-खरी सुनाते हुए कहा कि चुनाव में जीत के बाद पार्टी के विधायक तय करेंगे कि कौन सीएम बनेगा. इस बीच परिवार में चल रहे विवादों की खबरों पर पार्टी और परिवार के मुखिया मुलायम सिंह ने इन खबरों को सिरे से नकार दिया. उन्होंने एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में कहा कि मेरे परिवार में ना कोई विवाद था और ना है.
 
मुलायम सिंह यादव ने प्रेस कांफ्रेंस में अखिलेश यादव को बातों-बातों में ये भी बता दिया कि वो मुख्यमंत्री अपने दम पर नही बने हैं. मुलायम सिह ने कहा कि पिछले चुनाव में लोगों ने उनके लिए वोट दिया था लेकिन उन्होंने अपने बेटे अखिलेश को मुख्यमंत्री बनाने का फैसला किया. 
 
प्रेस कॉंफ्रेस में मुलायम ने कहा कि यूपी की जनता का समाजवादी पार्टी पर भरोसा बढ़ा है. मुलायम ने भरोसा जताया कि सूबे की जनता एक बार फिर से बहुमत के साथ राज्य की बांगडोर उनके हाथों में सौंपने जा रही है.