चेन्नई. तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता पिछले तीन हफ्तों से अस्पताल में भर्ती हैं, इस वजह से उनके ठीक होने तक के लिए जयललिता के सारे विभाग का कामकाज अब राज्य के वित्त मंत्री ओ पनीरसेल्वम देखेंगे. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
गवर्नर सी विद्यासागर ने मंगलवार को औपचारिक तौर पर पनीरसेल्वम को यह जिम्मेदारी सौंप दी है, लेकिन यह भी कहा गया है कि मुख्यमंत्री जयललिता ही रहेंगी.
 
 
जयललिता के पास पुलिस, सामान्य प्रशासन और गृह सहित कई अन्य महत्वपूर्ण विभागों की जिम्मेदारी है. राजभवन की ओर से जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि मुख्यमंत्री की सलाह पर ही ऐसा किया गया है और यह व्यवस्था जयललिता के ठीक होने तक रहेगी.
 
जयललिता को 22 सितंबर को चेन्नई के अपोलो अस्पताल में बुखार और डिहाइड्रेशन की शिकायत पर भर्ती कराया गया था. डॉक्टरों का कहना है कि उनकी सेहत में धीरे-धीरे सुधार हो रहा है.
 
कौन हैं पनीरसेल्वम ?
बता दें कि पनीरसेल्वम पहले दो बार तमिलनाडु के मुख्यमंत्री रह चुके हैं. साल 2001 से 2002 तक वह पहली बार मुख्यमंत्री बने थे, जब सुप्रीम कोर्ट ने जयललिता को पद धारण करने से रोक दिया था. उसके बाद जब 2014 में जयललिता को आय से अधिक संपत्ति के मामले में दोषी करार दिया था तब पनीरसेल्वम ने फिर से सीएम का पद संभाला था. उन्होंने 22 मई 2015 को पद से इस्तीफा दिया था. पनीरसेल्वम जयललिता के काफी भरोसेमंद नेताओं में से एक हैं.