मुंबई. शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने बीजेपी पर जोरदार हमला बोलते हुए कहा है कि अगर बीजेपी में हिम्मत है तो वह आने वाले जिला परिषद, ठाणे महानगरपालिका और बीएमसी चुनाव में गठबंधन तोड़ कर दिखाए, तब बताया जाएगा कि सर्जिकल स्ट्राइक क्या होता है. उन्होंने यह बात मुंबई के शिवाजी पार्क मैदान में दशहरा रैली को संबोधित करते हुए कही.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
पाक कलाकारों का विरोध हमने सबसे पहले किया
सर्जिकल स्ट्राइक पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और इंडियन आर्मी को बधाई देते हुए ठाकरे ने कहा कि शिवसेना ही ऐसी पार्टी थी जिसने सबसे पहले पाकिस्तान के कलाकारों और लेखकों का विरोध किया था. 
 
ठाकरे यही नहीं रुके उन्होंने कहा कि सरकार को एक बार यह तय कर लेना चाहिए कि पाकिस्तान के साथ कैसे संबंध रखना है, उसके बाद आगे एक्शन लिया जाए.
 
बता दें कि बीएमसी चुनाव को लेकर शिवसेना और बीजेपी में पहले से ही तनातनी हो रही है. जहां बीजेपी के नेताओं के बयानों के बाद से ऐसा लग रहा था कि बीजेपी चुनाव में शिवसेना के साथ गठबंधन नहीं रखना चाहती, तो वहीं शिवसेना की प्रतिक्रिया जानने के लिए सभी लोग दशहरा की रैली का इंतजार कर रहे थे. 
 
बीजेपी नेता किरीट सोमैया ने अपने एक बयान में कहा था कि बीएमसी चुनाव बजेपी अपने दम पर लड़ना चाहती है और इसी बयान में सोमैया ने शिवसेना और ठाकरे परिवार को बीएमसी का माफिया भी बताया था. हालांकि बीजेपी ने बाद में कहा था कि यह सोमैया का व्यक्तिगत विचार है, लेकिन इसके बाद से ही शिवसेना के फैसले का इंतजार किया जा रहा था. आज दशहरा मैदान में ठाकरे के बयान से यह साफ हो गया कि शिवसेना अभी गठबंधन तोड़ने के मूड में नहीं है.