लखनऊ. उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव तय समय से पहले हो सकते हैं. ये संकेत दिए हैं सूबे के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने. अखिलेश ने इशारों-इशारों में कहा कि विधानसभा चुनाव फरवरी 2017 में हो सकते हैं. अखिलेश ने कहा कि मेरे विरोधी पहले चुनाव चाहते हैं. हमारी सरकार इसके लिए तैयार है. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
मुख्यमंत्री अखिलेश ने फरवरी में विधानसभा चुनाव होने का संकेत देते हुए कहा कि चुनाव में पांच महीने से कम समय बचा है. अपने नए दफ्तर लोक भवन में समाजवादी पार्टी के  कार्यकर्ताओं से मुख्यमंत्री ने कहा कि नारे संगठित करने और जोश भरने के लिए होते हैं लेकिन वे उन्हें तभी अच्छे लगेंगे जब प्रदेश में दोबारा हमारी सरकार बने. 
 
अखिलेश यादव लोक भवन सभागार में आयोजित पुस्तक विमोचन समारोह में बोल रहे थे. समारोह में लगातार नारेबाजी कर रहे उत्साहित कार्यकर्ताओं से मुखातिब होकर मुख्यमंत्री ने कहा कि अब शायद पांच महीने का भी समय नहीं है. पहले उन्होंने कहा था कि कार्यकर्ता पांच महीने मेहनत कर लें तो उन्हें फिर से पांच साल की सरकार मिल जाएगी लेकिन अब समय कम है.  
 
समारोह में मुख्यमंत्री ने सूचना विभाग की ओर से प्रकाशित काफी टेबल बुक यूपी : द ग्रोथ फैक्ट्री, मासिक पत्रिका नया दौर के मजाज विशेषांक, उर्दू समाचार पत्रिका नई उमंग के ताजा अंक तथा आईएएस अफसर डॉ. हरिओम के गजल संग्रह ख्वाबों की हंसी का विमोचन किया.
 
इस मौके पर कैबिनेट मंत्री अहमद हसन, राजेन्द्र चौधरी, राममूर्ति वर्मा, प्रो. अभिषेक मिश्र व एसपी यादव के अलावा प्रमुख सचिव सूचना नवनीत सहगल और सचिव संस्कृति डॉ. हरिओम भी मौजूद थे. निदेशक सूचना सुधेश कुमार ओझा ने आभार ज्ञापन किया.