पटना/नई दिल्ली. बिहार में जारी राजनीतिक घमासान के बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने स्पष्ट कर दिया है कि विधानसभा चुनाव उनके नाम पर लड़ा जाएगा. नीतीश का चुनाव अभियान शुरू हो गया है. पटना के बहुचर्चित इनकम टैक्‍स चौराहे पर सीएम नीतीश की होर्डिंग नजर आई. इसमें एक स्‍लोगन भी लिखा हुआ है- आगे बढ़ता रहे बिहार, फिर एक बार नीतीश कुमार.

दूसरी ओर, आरजेडी और जेडीयू जारी खींचतान के बीच आरजेडी विधायक दल के नेता अब्दुल बारी सिद्दीकी ने मुख्यमंत्री की दावेदारी ठोक कर खलबली मचा दी है. सिद्दीकी ने साफ कहा है कि जब जीतन राम मांझी मुख्यमंत्री बन सकते हैं तो वह क्यों नहीं बन सकते.

गठबंधन पर आरजेडी और जेडीयू की दिल्ली में अहम बैठक

बिहार में विधानसभा चुनाव के लिए गठबंधन के मुद्दे पर आज आरजेडी और जेडीयू के नेताओं के बीच दिल्ली में मुलायम सिंह यादव के निवास पर बैठक होगी. सूत्रों के मुताबिक सीट बंटवारे के एक फॉर्मूले के तहत आरजेडी और जेडीयू सौ-सौ सीटों पर चुनाव लड़ सकते हैं, जबकि कांग्रेस, माकपा, भाकपा और एनसीपी को 43 सीटें दी जा सकती हैं. इसमें 30 सीटें कांग्रेस, 10 सीटें एनसीपी और 3 सीटें वाम दलों को दिए जाने की बात है. बिहार विधानसभा में 243 सीटें हैं.