नई दिल्ली. पटना हाईकोर्ट में शराबबंदी कानून रद्द होने के बाद 2 अक्टूबर को बिहार सरकार ने फिर से शराबबंदी कानून को लेकर अधिसूचना जारी कर दी. इसके साथ ही एक बार फिर से बिहार में शराब पूरी तरह से प्रतिबंध लग गया है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
जिस दिन हाईकोर्ट ने शराब प्रतिबंध कानून को रद्द किया था उसी दिन  बिहार सरकार ने फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जाने का कर दिया था. गौरतलब है कि जिस नए कानून की अधिसूचना जारी की गई है उसे बिहार विधानमंडल के मानसून सूत्र में ही पारित कराया गया था.
 
इस नए कानून का नाम बिहार मद्यनिषेध और उत्पाद विधेयक, 2016 है. लेकिन हाईकोर्ट के फैसले के बाद आम जनता में भ्रम की स्थिति हो गई थी. लेकिन शनिवार को राज्य के सीएम मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि कोई भ्रम में न रहे बिहार में शराब बंदी का नया कानून रविवार को ही लागू हो जाएगा.
 
राम विलास पासवान ने कसा नीतीश पर तंज
नए कानून को लेकर अधिसूचना जारी होने से पहले ही केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने शराबबंदी को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर हमला बोला. पासवान ने नीतीश कुमार पर प्रहार करते हुए कहा कि शराबबंदी के नाम पर नीतीश कुमार गांधी जी बनने चले हैं.
 
एनडीए भी चाहता है शराब बंदी लेकिन गरीबों को जेल में क्यों डाल रहे- पासवान
पटना में एक कार्यक्रम के बाद पत्रकारों से बात करते हुए पासवान ने कहा कि एऩडीए भी शराबबंदी के पक्ष में है लेकिन शराबबंदी के नाम पर गरीब और सेना के जवान को जेल में क्यों बंद कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि बिहार में शराबबंदी नहीं हो रहा है बल्कि शराबबंदी के नाम पर बिहार में पब्लिक की नाकेबंदी हो रही है.
 
उन्होंने कहा कि एनडीए अभी भी शराबबंदी के पक्ष में है लेकिन एनडीए उस कानून का विरोध करती है जिसमें ये प्रावधान है कि किसी के घर से शराब मिलने पर पूरे परिवार को जेल भेज दिया जाएगा.
 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किए गए स्वच्छ भारत अभियान के दो वर्ष पूरा होने पर पासवान ने पटना के यारपुर मोहल्ले में झाड़ू लगाई. इस मौके पर उन्होंने कहा कि पीएम मोदी का यह अभियान पूरा जोर पकड़ रहा है. उन्होंने कहा कि पीएम मोदी के इस अभियान से गांधी का स्वच्छ भारत और स्वस्थ भारत का सपना साकार हो रहा है.