नई दिल्ली. दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया फिनलैंड के दौर से लौट आए हैं. वह एजुकेशन सिस्टम के अध्ययन के लिए फिनलैंड गए थे. दिल्ली में जब डेंगू और चिकनगुनिया कहर बरपा रहे हैं, तो ऐसे में उपमुख्यमंत्री के फिनलैंड दौरे की चौतरफा आलोचना होने लगी थी. उपराज्यपाल नजीब जंग ने भी उन्हें फैक्स करके वापस आने के निर्देश दिए थे.
 
ख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
मनीष सिसोदिया के फिनलैंड दौरे की सोशल मीडिया में भी खिंचाई हुई है. लोग इसे हॉलीडे ट्रिप बता रहे हैं. इसी कड़ी में उपमुख्यमंत्री की लेखक चेतन भगत से भी ट्विटर वॉर छिड़ गई थी. चेतन भगत ने ट्विटर पर मनीष सिसोदिया के दौरे की आलोचना करते हुए लिखा, ‘दिल्ली के स्कूलों की हालत सुधारने, अच्छे शिक्षक, बिजली, पानी और शौचलाय के लिए क्या आपको फर्स्ट क्लास में सफर करके फिनलैंड जाने की जरूरत है? 
 
उन्होंने लिखा क्या आप समर्थकों ने कभी यह सोचा भी था कि शपथ लेने के लिए मेट्रो से जाने वाली आप विधायक आज फिनलैंड के​ लिए फर्स्ट क्लास में सफर करेंगे. इसके बाद मनीष सिसोदियो ने उनके फर्स्ट क्लास से जाने की खबर देने वाले न्यूज चैनल के संपादक की तरह चेतन भगत को भी झूठा कहा. 
 
चेतन ने इसके जवाब में मनीष से उनकी फिनलैंड यात्रा का विवरण सार्वजनिक करने को कहा। इसके बाद आप नेता आशुतोष ने भी चेतन भगत पर निशाना साधा और ट्विटर पर कहा कि चेतन को पार्टी में जगह नहीं मिली इसीलिए ये ऐसा बोल रहे हैं। कुछ और लोग ट्विटर पर चेतन भगत से अपशब्द भी कहने लगे.