Hindi politics Rahul Gandhi, Ayodhya, Ram mandir, Ram temple, Ramlala, controversial spot in ayuodhya, congress yatra, deoria to delhi, kisan yatra http://www.inkhabar.com/sites/inkhabar.com/files/field/image/Rahul-gandhi-in-ayodhya.jpg

....तो इस वजह से अयोध्या पहुंच कर भी राहुल गांधी ने नहीं किए रामलला के दर्शन ?

....तो इस वजह से अयोध्या पहुंच कर भी राहुल गांधी ने नहीं किए रामलला के दर्शन ?

| Updated: Friday, September 9, 2016 - 14:57
rahul gandhi, ayodhya, ram mandir, ram temple,  Ramlala, controversial spot in ayuodhya, congress yatra, deoria to delhi, kisan yatra,

know why does rahul gandhi creat distance from ramlala and controversial spot in ayodhya, babari demolition

इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
....तो इस वजह से अयोध्या पहुंच कर भी राहुल गांधी ने नहीं किए रामलला के दर्शन ? know why does rahul gandhi creat distance from ramlala and controversial spot in ayodhya, babari demolition Friday, September 9, 2016 - 14:57+05:30
अयोध्या : 'देवरिया से दिल्ली' की यात्रा पर निकले राहुल गांधी ने अयोध्या पहुंचे और वहां पर हनुमान गढ़ी के दर्शन किए. लेकिन उन्होंने रामलला के दर्शन नहीं किया. वह विवादित ढांचे से करीब एक किमी दूर रहे.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर


बता दें कि 1992 में हुई बाबरी विध्वंस की घटना के बाद से यह पहला मौका जब गांधी परिवार का कोई सदस्य अयोध्या पहुंचा हो. 1990 में उनके पिता और पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजीव गांधी अयोध्या गए थे. उन्होंने उस समय सद्भावना यात्रा निकाली थी.

अयोध्या पहुंचे राहुल गांधी के तय प्रोग्राम के मुताबिक हनुमान गढ़ी के दर्शन और महंत ज्ञानदास से मिलने के अलावा कोई कार्यक्रम या मीटिंग नहीं है. 
 
रामलला और विवादित ढांचे से दूरी की हो सकती हैं यह बड़ी वजहें
दरअसल मंदिर आंदोलन का उभार ही एक ऐसा मुद्दा था जिसकी वजह से कांग्रेस उत्तर प्रदेश में पूरी तरह से खत्म हो गई. कांग्रेस के नेता इस पूरे आंदोलन की नब्ज ठीक से नहीं पकड़ पाए जिसका परिणाम यह हुआ कि बीजेपी, समाजवादी पार्टी उत्तर प्रदेश में बड़े वोट बैंक पर कब्जा जमा लिया.

 
अब यह पूरा मामला हाईकोर्ट से निकलकर सुप्रीम कोर्ट में पहुंच गया है. आंदोलन के इतने साल बीत जाने के बाद भी कांग्रेस को आज तक यह इस मामले में कोई साफ रुख अपनाने में नाकाम रही है. 

 
यही वजह है कि राहुल गांधी ने अपनी अयोध्या के दौरान रामलला और विवादित स्थल से पूरी तरह दूरी बनाए रखी. इस मामले में कांग्रेस के नेता सफाई दे रहे हैं कि कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल की यात्रा किसानों के लिए इसका मंदिर या विवादित ढांचे से कोई संबंध नहीं है.

 
दरअसर कांग्रेस नहीं चाहती है कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव ठीक पहले मंदिर-मस्जिद जैसे संवेदनशील मुद्दे में फंसा जाए. वहीं पार्टी को अपनी धर्मनिरपेक्ष छवि की भी चिंता है ताकि समाजवादी पार्टी के शासन से नाराज मुस्लिम वोटों को चुनाव में खींचा जा सके.

 
क्या कहा महंत रामदास ने
राम जन्मभूमि की ओर से मुकदमा लड़ रहे निर्मोही अखाड़ा के संत महंत रामदास से भी राहुल गांधी मिले. महंत ने कहा 'हम मंदिर में सबका स्वागत करते हैं. हम संत हैं. हम सबको आशीर्वाद देते हैं. 
 
 
First Published | Friday, September 9, 2016 - 14:55
For Hindi News Stay Connected with InKhabar | Hindi News Android App | Facebook | Twitter
Web Title: know why does rahul gandhi creat distance from ramlala and controversial spot in ayodhya, babari demolition
(Latest News in Hindi from inKhabar)
Disclaimer: India News Channel Ka India Tv Se Koi Sambandh Nahi Hai

Add new comment

CAPTCHA
This question is for testing whether or not you are a human visitor and to prevent automated spam submissions.

फोटो गैलरी

  • मुंबई के केलु रोड स्टेशन पर एक ट्रेन में सवार अभिनेता विवेक ओबेरॉय
  • मुंबई में अभिनेत्री सनी लियोन "ज़ी सिने पुरस्कार 2017" के दौरान प्रदर्शन करते हुए
  • सूफी गायक ममता जोशी, पटना में एक कार्यक्रम के दौरान प्रदर्शन करते हुए
  • लखनऊ में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बधाई देते प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी
  • मुंबई में आयोजित दीनानाथ मंगेसकर स्मारक पुरस्कार समारोह में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत, लता मंगेसकर और अभिनेता आमिर खान
  • चेन्नई बंदरगाह पर भारतीय तटरक्षक बल आईसीजीएस शनाक का स्वागत
  • आगरा में ताजमहल देखने पहुंचे आयरलैंड के क्रिकेटर
  • अरुणाचल प्रदेश में सेला दर्रे पर भारी बर्फबारी का एक दृश्य
  • कोलकाता के ईडन गार्डन में वंचित बच्चों की मदद के लिए क्रिकेट खेलने पहुंचे पूर्व क्रिकेटर टीएमसी मंत्री लक्ष्मी रतन सुक्ला
  • नई दिल्ली में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मुंबई में अंतर्राष्ट्रीय डायमंड सम्मेलन को संबोधित करते हुए प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी