नई दिल्ली. अपने बयानों के लिए मशहूर बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने इस बार जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती पर जोरदार हमला किया है. उन्होंने महबूबा पर आरोप लगाते हुए कहा है कि उनके संबंध आतंकवादियों से हैं इसलिए घाटी में हालात ठीक ही नहीं हो रहे हैं. एक समाचार चैनल से स्वामी ने कहा कि कश्मीर में राष्ट्रपति शासन लागू कर देना चाहिए.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
स्वामी इतने में ही नहीं रुके, उन्होंने बीजेपी-पीडीपी गठबंधन को ही सवालों के घेरे में ले लिया. बीजेपी के इस सांसद ने कहा कि बीजेपी ने यह सोचकर पीडीपी के साथ गठबंधन किया कि महबूबा सुधर जाएंगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ. उन्होंने कहा कि हालात को सुधारने के लिए जम्मू और कश्मीर को सुरक्षा बलों के हवाले कर देना चाहिए. स्वामी ने महबूबा के इस्तीफे की मांग की.
 
स्वामी का यह बयान उस समय आया है जब पीडीपी और बीजेपी कश्मीर में स्थिति सामान्य करने के लिए काफी मशक्कत कर रही है. इसी दिशा में कदम बढ़ाते हुए केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के नेतृत्व में एक सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल का गठन किया गया था, जो 4 सितंबर को कश्मीर मुद्दे पर अलगाववादी नेताओं से बात करने के लिए श्रीनगर पहुंचा था, लेकिन अलगाववादी नेताओं ने इस मुद्दे पर बात करने से मना कर दिया.
 
बता दें कि 8 जुलाई को हिजबुल कमांडर बुरहान वानी के मारे जाने के बाद से ही घाटी में हिंसा का दौर जारी है, जिसके बाद से अब तक 73 लोग मारे जा चुके हैं.