नई दिल्ली. जनता परिवार के विलय पर सवालिया निशान खड़े होने लगे हैं. सूत्रों के अनुसार समाजवादी पार्टी (सपा) जनता परिवार में शामिल नहीं होगी. जनता परिवार के विलय की प्रक्रिया अब आधिकारिक तौर पर टल गई है. इससे पहले बिहार में सत्ताधारी जेडीयू ने कहा है कि आगामी बिहार विधानसभा चुनाव आरजेडी और जेडीयू गठबंधन के तहत लड़ेंगी. 

गौरतलब है कि पिछले महीने 10 मई को समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता रामगोपाल यादव ने कहा था, ‘विलय तकनीकियों की वजह से बिहार विधानसभा चुनाव से पहले संभव नहीं है. अगर हम हड़बड़ी में विलय करते हैं, तो यह मेरी अपनी पार्टी के डेथ वारंट पर हस्ताक्षर करने जैसा होगा.’ 

जनता परिवार के छह दलों- समाजवादी पार्टी, जद (एकी), जद (सेकु), राजद, इनेलो और समाजवादी जनता पार्टी ने 15 अप्रैल को अपने विलय की घोषणा की थी. सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव को जनता परिवार का राष्ट्रीय अध्यक्ष चुना गया था. साथ ही कार्यक्रम, चुनाव चिन्ह वगैरह तय करने को मुलायम सिंह यादव के नेतृत्व में सात सदस्यीय समिति भी बनी थी.