नई दिल्ली. महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने एक बार फिर से लीक से हटकर बयान दे डाला है. पैटरनिटी लीव (पिता बनने पर पुरुषों को मिलने वाली छुट्टी) को बढ़ाने की बात पर उन्होंने कहा है कि पुरुष इसे बस आराम करने के लिए इस्तेमाल करेंगे. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
पिछले दिनों राज्य सभा में गर्भवति महिलाओं को मिलने वाली मैटरनिटी लीव बिल पास कर दिया गया था. इस बिल में मैटरनिटी लीव की अवधि को बढ़ा कर 26 हफ्ते करने का प्रस्ताव था. इसके बाद से ही पुरुषों को मिलने वाली पैटरनिटी लीव की अवधि को भी बढ़ाने की मांग की जा रही है. 
 
मेनका गांधी ने इस मुद्दे पर अपना पक्ष रखते हुए कहा कि पैटरनिटी लीव बढ़ाने से शायद ही की कोई फर्क पड़े. हमारे समाज में बच्चों की देखभाल के लिए पुरुष सामान्य छुट्टियों का ही उपयोग नहीं करते. ऐसे में पैटरनिटी लीव उनके लिए छुट्टियां मनाने जैसा ही होगा. 
 
सोशल मीडिया पर मेनका के इस बयान को लोगों ने आड़े हाथों लिया है. उनके इस बयान के लिए लोगों ने उनके और स्वर्गीय संजय गांधी पर कटाक्ष करना शुरु कर दिया है.