पुदुच्चेरी. पुदुच्चेरी की राज्यपाल किरण बेदी सफाई अभियान में लोगों और सरकारी अधिकारियों से सहयोग न मिलने के कारण नाराज हैं. यहां तक की उन्होंने पुदुच्चेरी से चले जाने की चेतावनी भी दे डाली.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
किरण बेदी ने रविवार को कहा कि केंद्र शासित प्रदेश पुदुच्चेरी की सफाई में अगर जनता, सरकारी अधिकारियों और मंत्रियों ने साथ मिलकर काम नहीं किया, तो वह पुदुच्चेरी से चली जाएंगी. जवाहरलाल इं​स्टीट्यूट आॅफ पोस्टग्रेजुएट मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च (जिपमर) की स्टूडेंट काउंसिल द्वारा आयोजित मेराथन में बेदी ने ये बातें कही. उन्होंने आयोजन के दौरान कहा कि वह अक्टूबर की शुरुआत तक इंतजार करेंगी और अगर लोगों, सरकारी अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों ने सफाई अभियान में सहयोग नहीं किया तो वह प्रदेश छोड़ देंगी.
 
बेदी ने आगे कहा, ‘मैं आपको चार हफ्तों का समय देती हूं. बचा हुआ अगस्त और पूरा सितंबर. अक्टूबर में मैं फैसला करूंगी कि मुझे यहां रहना है या यहां से जाना है. क्या आप इस चुनौती को स्वीकार करना चाहते हैं? आपको मानसून से पहले सभी सड़कें और बाजार साफ कर लेने चाहिए वरना सभी घर बाढ़ से भर जाएंगे. हम एक हफ्ते में पुदुच्चेरी को साफ कर सकते हैं. या तो मैं सफल हो जाऊंगी या वापस चली जाऊंगी.’
 
उन्होंने कहा कि जबसे उन्होंने कार्यभार संभाला है वह 20 बार निरीक्षण कर चुकी हैं. गलियों को साफ करना राज्यपाल का काम नहीं है. आप सड़कों को गंदा करते हैं और निकासी को ब्लॉक कर देते हैं. प्रदेश को साफ रखना जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों का काम है. वह टीम का हिस्सा बनेंगी. वह पहली राज्यपाल हैं, जो नौकरी पर नहीं बल्कि एक अभियान पर हैं. अगर यह अभियान पूरा नहीं होता है, तो वह चली जाएंगी.