भोपाल. अभी तक हम लोगों ने सुना था कि पानी की वजह से तीसरा विश्वयुद्ध होगा. लेकिन मध्यप्रदेश सरकार के एक ‘सरकारी संत’ को तीसरे विश्व युद्ध का कारण कुछ और ही दिखता है. महामंडलेश्वर स्वामी अखिलेशवरानंद गिरी का कहना है कि तीसरा विश्व युद्ध गाय की वजह से होगा. स्वामी के अनुसार गायें हमेशा तकरार का सूत्र रही हैं. 1857 की आजादी की पहली लड़ाई भी गाय की वजह से लड़ी गई थी. बता दें कि स्वामी मध्यप्रदेश गौपालन एवं पशुधन समवर्धन बोर्ड की एग्जीक्यूटिव काउंसिल के चेयरमैन है. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
स्वामी का कहना है कि जब गौरक्षक घायल और मरी हुई गायों को वाहनों में बंद देखते हैं तो स्वाभाविक है कि वे गुस्सा होंगे, क्योंकि यह उनकी भावनाओं से जुड़ा हुआ है. उन्हें अपने हाथों में कानून नहीं लेना चाहिए. सभी राज्य अगर गाय की हत्या पर कड़े कानून बना दें तो एक राज्य से दूसरे राज्य में गायों की तस्करी मुश्किल हो जाएगी.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
साथ ही स्वामी ने कहा कि पशुधन विभाग के अधिकारी अगर गौशाला दौरे पर जाते हैं तो उन्हें ‘निरक्षण’ शब्द का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए. उन्हें बोलना चाहिए कि वे गौमाता के दर्शन करने जा रहे हैं.