नई दिल्ली. दिल्ली हाईकोर्ट के आदेश के बाद आम आदमी पार्टी के निशाने पर उप-राज्यपाल नजीब जंग आ गए हैं. पार्टी प्रवक्ता आशुतोष ने कहा कि सीएनजी फिटनेस घोटाला, डीडीसीए में अनियमितताओं और टैंकर घोटाले के खिलाफ दर्ज एफआईआर कथित मामले में उप-राज्यपाल पर निशाना साधा है. आशुतोष ने उप-राज्यपाल को स्कैम-स्मगलर्स का मुखिया तक कह डाला.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
आशुतोष ने कहा कि अगर दिल्ली की जनता को बिजली, पानी, सड़क, शिक्षा, स्वास्थय, करप्शन जैसी कोई समस्या है तो वह नजीब जंग का दरवाजा खटखटा सकते हैं. क्योंकि शक्तियां तो उनके ही हाथों में हैं. 
 
आशुतोष ने कहा कि वह हाईकोर्ट के फैसले का सम्मान करते हैं, लेकिन असहमति के साथ वह सुप्रीम कोर्ट जाएंगे और जब तक सुप्रीम कोर्ट कोई फैसला नहीं दे देती, दिल्ली में इसी व्यवस्था के तहत काम करने की कोशिश आम आदमी पार्टी और सरकार करेंगे.
 
दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा था कि दिल्ली सरकार की सलाह पर उप-राज्यपाल काम करने को बाध्य नहीं है. उप-राज्यपाल की सलाह पर ही दिल्ली सरकार फैसला ले, दिल्ली के फैसले लेने के लिए उप-राज्यपाल के पास ही संवैधानिक अधिकार है. उप-राज्यपाल की अनुमति से ही दिल्ली सरकार फैसला ले सकती है. 
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले से बीजेपी गदगद है. दिल्ली प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष सतीश उपाध्याय ने ट्वीट कर कहा है कि हाईकोर्ट ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को आईना दिखाया है. ये फैसला अराजकतावादी मुख्यमंत्री के चेहरे पर तमाचे की तरह है. केजरीवाल को सामने आना चाहिए और माफी मांगनी चाहिए.