नई दिल्ली. 70 वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चाहते हैं कि गरीबों के लिए चलाई जा रही सरकार की 70 योजनाएं बड़े पैमाने पर बताई जाए. इसके लिए मोदी ने कैबिनेट बैठक ना कर एक आसान रास्ता निकाल लिया है. मोदी ने इसके लिए डिजिटल कैबिनेट की शुरुआत की है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
मोदी ने मंत्रियों की राय जानने के लिए ‘नरेंद्र मोदी’ मोबाइल ऐप में एक प्राइवेट ग्रुप बनाया है, जिसमें कैबिनेट के तमाम मंत्रियों को जोड़ा गया है. हफ्ते में होने वाली कैबिनेट बैठक के लिए समय गंवाए बिना मोदी अब ‘नमो एेप’ के जरिए मंत्रियों से चर्चा करेंगे.
 
21 जुलाई को मोदी ने नमो मोबाइल ऐप से जुड़े एक प्राइवेट ग्रुप को मेसेज भेजा. ग्रुप में कैबिनेट का प्रत्येक सदस्य शामिल है. जिसमें स्मृति ईरानी, राजीव प्रताप रूडी, हरसिमरत कौर बादल, जितेंद्र सिंह आदि ने तुरंत जवाब दिया था.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
सूत्रों के मुताबिक यह एक अनौपचारिक डिजिटल फोरम है. जहां मंत्री, प्रधानमंत्री से अलग-अलग मुद्दों पर बातचीत करते हैं. यह प्राइवेट ग्रुप मंत्रियों के लिए विशेषतौर पर करीब दो महीने पहले तैयार किया गया था. फिलहाल इसको लेकर विस्तार से प्लान तैयार किया जा रहा है. यह डिजिटल कैबिनेट नमो ऐप पर माई नेटवर्क सेक्शन में है. जो की आम नागरिकों को नहीं दिखता है.