नई दिल्ली. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल राजनीति से 10 दिन के लिए दूर जा रहे हैं. खबर है कि वे नागपुर में विपश्यना केंद्र में ध्यान शिविर में शामिल होंगे. इस दौरान वे सांसारिक मोह-माया से दूर रहेंगे. वे न तो अखबार पढ़ेंगे और ना ही टीवी देखेंगे. इससे पहले भी वे 2014 में विपश्यना गए थे. वहीं जाम और बारिश में दिल्ली को छोड़कर केजरीवाल के नागपुर जाने पर विपक्षियों ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है. विपक्षियों ने केजरीवाल की आलोचना करते हुए कहा है कि बारिश और जाम में दिल्ली को छोड़कर केजरीवाल का विपश्यना जाना जनता के प्रति उनकी उदासीनता को दिखाता है.

क्या है विपश्यना ?
विपश्यना एक विशेष प्रकार की ध्यान करने की पद्धति है. इसमें शामिल होने वाले लोग शांत भाव से बैठकर सांसों के उतार-चढ़ाव पर अपना ध्यान केंद्रित करते हैं. इस दौरान साधक को आरामदायक कपड़े पहनने होते हैं और सांसारिक मोह-माया से दूर रहना होता है.