लखनऊ. उत्तर प्रदेश में गरमाते चुनावी माहौल और दलित वोटों के खींचतान के बीच केंद्र सरकार में राज्य मंत्री रामदास अठावले ने बीएसपी सुप्रीमो मायावती पर निशाना साधा. रामदास अठावले ने कहा है कि मायावती बाबा साहब अंबेडकर के नाम पर राजनीति तो करती हैं लेकिन उनके आदर्शों को नहीं मानतीं.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
उन्होंने आगे कहा, ‘यूपी में मेरी पार्टी रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (RPI) की भूमि रही है, जिस पर मायावती ने कब्जा कर लिया है, वह अब मायावती से अपनी जमीन वापस लेकर रहेंगे.’
 
अठावले ने ये भी कहा कि अंबेडकर के नाम पर राजनीति करने वाली मायावती ने अभी तक बौद्ध धर्म क्यों नहीं अपनाया. मायावती को दलितों के हितों से कोई सरोकार नहीं हैं. मायावती दलितों के नाम पर केवल राजनीति करना जानती हैं. अंबेडकर ने पूरे समाज को एक साथ जोड़ने की बात कही थी, न कि समाज को तोड़ने की. उन्होंने कहा कि अगर मायावती अगर सच्ची अंबेडकरवादी हैं तो उन्हें पार्टी के नाम से बहुजन शब्द हटाकर सर्वजन शब्द का इस्तेमाल करना चाहिए.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
अठावले ने  सरकार से कहा है कि सरकार सुनिश्चित करे कि गौरक्षा के नाम पर ऊना में युवकों की पिटाई की गई उस तरह की घटना दोबारा ना घटे. उन्होंने कहा कि गौरक्षा के नाम पर मानव की हत्या करना उनको ठीक नहीं लगता है. गौरक्षा के साथ-साथ मानव रक्षा भी करनी चाहिए.