चंडीगढ़. हरियाणा में कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है. राज्य से कांग्रेस के कद्दावर नेता अजय यादव ने पार्टी से 30 साल पुराना नाता तोड़ दिया है. शुक्रवार को एक ट्वीट के जरिए उन्होंने इस बात का ऐलान किया. पार्टी में उपयुक्त जगह न मिलने की वजह से कैप्टन यादव ने यह फैसला किया है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
उन्होंने ट्वीट कर लिखा, ‘मैंने अपनी जवानी और जिंदगी कांग्रेस को दी. मेरे पिता कांग्रेसी थे और मेरी भी नेहरू गांधी परिवार में आस्था है, लेकिन पार्टी में भुपेंद्र सिंह हुड्डा सुप्रीम हैं. पार्टी के बतौर सच्चे सिपाही की तरह मैंने काम किया, लेकिन मेरे आत्मसम्मान को अब ठेस पहुंच चुकी है. इसलिए मैं कांग्रेस छोड़ता हूं.’
 

कमलनाथ पर भी साधा निशाना

कैप्टन यादव ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ पर भी हमला बोला है. उन्होंने कहा कि कमलनाथ ने एक महीने में हाईकमान को गुमराह किया है और उन्हें (यादव को) नजरअंदाज किया है. यादव ने कहा, ‘आपके पास 40 साल का अनुभव है तो मेरे पास भी 30 साल का है.’
 
बताया जा रहा है कि बीते दिनों कमलनाथ ने हरियाणा प्रदेश के नेताओं की मीटिंग की अध्यक्षता की थी. इसमें पहले यादव का नाम लिखा गया था, लेकिन बाद में काट दिया गया था.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
बता दें कि कैप्टन अजय यादव 6 बार कांग्रेस के विधायक रहे हैं. वह फिलहाल प्रदेश से बाहर हैं. उन्होंने शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करने की बात कही है.