नई दिल्ली. ऊना में दलितों को पीटने का मामला अब पूरी तरह से राजनीतिक हो गया है. मामले को बढ़ते देख गुजरात पुलिस ने दलितों के दबे मामलों में आरोपियों की गिरफ्तारी भी शुरू कर दी है. इसी बीच आरजेडी प्रमुख लालू यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम एक खुला खत लिखा है. इस खत में उन्होंने मोदी को ऊना घटाने के लिए जिम्मेदार और खुद को सबसे बड़ा गौपालक बताया है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
लालू ने अपनी चिट्ठी में लिखा, “मुझे अत्यंत दुःख है कि मुझे अपने देश के प्रधानमन्त्री को यह बताना पड़ रहा है कि यह आग आपकी ही लगाई हुई है. इस आग में भस्म होकर जो गौपालक, किसान बन्धु, दलित, आदिवासी और अल्पसंख्यक मर रहे हैं, उसके दोषी सिर्फ आप, आपकी पार्टी और आपकी असहिष्णु विचारधारा की जननी संघ है. अगर आज मैं आपको कठघरे में खड़ा नहीं करूंगा तो मेरे अंदर का गौ-पालक मुझे कभी माफ़ नहीं करेगा.”
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
लालू ने अपनी चिट्ठी को फेसबुक पर शेयर किया है, जिसमें उन्होंने लिखा है, “यह जो गौ-सेवा और गौ रक्षा के नाम पर कुकुरमुत्तों की तरह जगह-जगह हिंसक तथाकथित गौ-रक्षक दल इत्यादि पनप रहे हैं, इस आग के पीछे सबसे बड़ा हाथ आरएसएस और आपका ही है. पहले लोकसभा चुनाव और हाल ही में हुए बिहार विधानसभा चुनावों में जिस गैर जिम्मेदारी से पिंक रेवोलुशन, गौ माँस, गाय पालने वाले और गाय खाने वाले आदि गैर जरूरी बातों पर समाज तोड़ने वाले भड़काऊ भाषण दिए गये थे, उन्हीं का यह असर है की आज किसान खरीद कर गायों को गाड़ी में लादकर ले जाने से भी डरता है.”