नई दिल्ली. दिल्ली में बिजली कटौती को लेकर मंगलवार को केजरीवाल सरकार ने तमाम विधायकों के साथ बैठक की. बैठक में इस बात पर चर्चा हुई कि आखिर दिल्ली में बिजली की समस्या को कैसे रोका जाए.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
मीटिंग में यह बात सामने आई कि बिजली को लेकर सबसे ज्यादा दिक्कतें ओखला, मटियाला, विकासपुरी और बुराडी जैसे इलाकों से आ रही हैं. सरकार के सामने इस समय बड़ी समस्या यह कि वह इलाकों में ट्रांसफॉर्मर लगाना तो चाहती है, लेकिन उसके लिए जमीन ही नहीं मिल रही है.
 
बैठक में विधायकों ने बिजली कंपनियों की मानहानि की भी शिकायत की, जिसके बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने विधायकों से कहा कि वे अपने-अपने इलाकों में पिछले दिनों में हुई बिजली कटौती की रिपोर्ट पेश करें. ताकि कंपनियों कंपनियों को नोटिस भेजा जा सके. साथ ही केजरीवाल ने विधायकों से कहा कि वे अपने क्षेत्र के आरडबल्यूए से मिलकर सही जगह की तलाश करें ताकि ट्रांसफॉर्मर लगाया जा सके.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
बीजेपी ने बताया शगुफा
एक ओर जहां ऊर्जा मंत्री सतेन्द्र जैन ने केजरीवाल के समक्ष अपनी समस्या को जाहिर किया, वही बीजेपी विधायक ओम प्रकाश शर्मा ने इसे केजरीवाल सरकार का नया शगुफा बताते हुए सरकार के मंसा पर ही सवाल खड़े कर दिए.