देहरादून. बीजेपी के स्टिंग मामले में उत्तराखंड के सीएम हरीश रावत ने विपक्ष की खुली बहस की चुनौती स्वीकार कर ली है. रावत ने कहा कि वह इस मामले में विपक्षियों से टीवी चैनलों में लाइव बहस के लिए तैयार हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने जनसंवाद कार्यक्रम आयोजित करके एक परम्परा प्रारंभ की है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इस जनसंवाद कार्यक्रम की परम्परा को आगे भी जारी रखा जाएगा, ताकि हम खुले रूप से अपना पक्ष रख सकें. उन्होंने कहा कि वह चाहते हैं कि राजनीतिक दल अपने विकास कार्यक्रम का खाका लेकर जनता के बीच जाएं और जनता को तय करने दें. उन्होंने कहा कि वह नहीं चाहते कि प्रदेश में आरोप प्रत्यारोप की राजनीति हो. लेकिन शायद भाजपा तू-तू मैं-मैं को लेकर चुनाव में जाना चाहती है.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
भाजपा के भ्रष्टाचार के आरोपों पर उन्होंने कहा कि उनकी भाजपा से अपील है कि वह राज्य गठन से अब तक की सरकारों पर लगे सभी आरोपों की निष्पक्ष जांच सीबीआई से कराने के लिए विधानसभा में प्रस्ताव लाएं. वह उन्हें सहर्ष मंजूर होगा, लेकिन इसमें यह नहीं चलेगा कि उनके मनमाफिक मामलों की ही जांच हो.