नई दिल्ली. कांग्रेस पार्टी ने यूपी में होने वाले 2017 चुनाव की तैयारियां शुरू कर दी हैं. प्रियंका गांधी पिछले सभी चुनावों से ज्यादा एक्टिव दिख रही हैं. जहां अबतक वह सिर्फ रायबरेली और अमेठी में ही प्रचार करती दिखती थीं, वहां इस चुनाव में वह पूरे यूपी में लगभग 150 रैलियां करेंगी. इसके साथ ही उन्होंने अभी से पार्टी को मजबूत करने की तैयारियां शुरू कर दी हैं.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
खबर है कि प्रियंका लगभग रोज कांग्रेस महासचिव और पार्टी के उत्तर प्रदेश प्रभारी गुलाम नबी आजाद से साउथ एवेन्यू में मीटिंग करके पार्टी की रणनीति तैयार कर रही हैं. माना जा रहा है कि प्रियंका यह भी तय कर रही हैं कि छोटी और क्षेत्रीय पार्टिओं से कैसे गठबंधन करना है.
 
इसके अलावा पहले सुनने में आया था कि राहुल के विदेश से वापस आ जाने के बाद प्रियंका की बाकी जिम्मेदारियां भी तय कर दी जाएंगी. पार्टी के ज्यादातर नेता इसके पक्ष में हैं कि यूपी चुनाव में स्टार प्रचारक के तौर पर प्रियंका गांधी को आगे रखा जाए. गुलाम नबी आजाद ने संकेत दिया था कि प्रियंका गांधी को यूपी चुनावों में बड़ी जिम्मेदारी मिल सकती है. उन्होंने कहा था कि कार्यकर्ता चाहते हैं कि प्रियंका अमेठी और रायबरेली से बाहर निकलकर भी प्रचार करें.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
यूपी की विधानसभा सीटों को तीन कैटेगरी में बांटा जा सकता है. ए कैटेगरी की सीटें वे हैं जिन पर पार्टी को जीत का पूरा भरोसा है. बी कैटेगरी की सीटों पर कांग्रेस फाइट में आने की क्षमता रखती हैं और सी कैटेगरी की सीटें ऐसी हैं जिन पर पार्टी अपनी स्थिति कमजोर मानती है. प्रशांत किशोर ने ए कैटेगरी की सीटों पर प्रियंका की जनसभाएं कराने का सुझाव दिया था. इस सुझाव पर प्रियंका ने अपनी सहमति दे दी है. यूपी में 100 से 125 सीटें ऐसी हैं, जहां उनकी पार्टी को जीत का पूरा भरोसा है.