नई दिल्ली. मोदी सरकार के एक साल पूरा होने पर मथुरा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रैली करते हुए अपने अच्छे दिन के वादों का आंकड़ा गिनाया है. रैली को संबोधित करेत हुए मोदी ने कहा, ‘365 दिनों का काम गिनाने लगूं तो 365 घंटे भी कम पड़ेंगे. एक साल में देश में छह लाख टूरिस्ट आए. मां-बहनों की इज्जत के लिए हर घर में शौचालय के काम को लेकर चला हूं. यह सरकार नहीं बनती तो पता नहीं महंगाई कितनी हो जाती, हमने रोक लगाई. 330 रुपए में जीवन रक्षक बीमा की शुरुआत की है.12 रुपए में कफन नहीं मिलता, मैं बीमा लेकर आया हूं.  32 लाख लोगों को 100-200 रुपए से ज्यादा पेंशन नहीं मिलती थी. हमने 1000 रुपए पेंशन की व्यवस्था की. एक साल के अंदर 25 हजार करोड़ रुपए की विदेशी पूंजी वापस आई. दिल्ली में पहले पॉवर सेंटर नहीं, पॉवर सर्किल चलता था. हमने यूरिया पर नीम की कोटिंग शुरु की जिससे कालाबाजारी, चोरी न हो पाए. बंद पड़े कारखानों को खोलने का काम कर रहे हैं.देश में 20 लाख टन यूरिया का उत्पादन बढ़ने वाला है.’

विरोधियों को घेरते हुए मोदी ने कहा, ‘अगर उन्हें (यूपीए) एक साल और मिल गया होता तो आज देश क्या हाल होता?यूपीए सरकार रिमोट कंट्रोल से चलती थी. रोज नया घोटाला सामने आता था. नेताओं को जेल जाना पड़ता था. पिछली सरकार ने कोयले की खदानें अपने लोगों को कौड़ियों के दाम बेच दीं. चोर, लूट का जमाना गया. पिछले एक साल में भाई-भतीजे, घोटाले की बात आई क्या? जिन लोगों ने देश को लूटा, उनके अच्छे दिनों की गारंटी मैंने नहीं दी थी. 12 करोड़ लोगों को गैस सिलेंडर सब्सिडी का पैसा सीधे बैंक अकाउंट में मिलता हैं. हम चाहते हैं पांच साल में किसान को 24 घंटे बिजली-पानी क्यों न मिले?’