लखनऊ. मंगलवार को BSP प्रमुख मायावती ने उत्तर प्रदेश में बिगड़ते कानून व्यवस्था को लेकर प्रदेश की समाजवादी पार्टी और केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा. मायावती ने कहा कि उत्तर प्रदेश के हालात बिगड़ते जा रहे हैं. गुंडे, अपराधियों और माफियाओं का बोलबाला बढ़ गया है. गुंडों में पुलिस का खौफ नहीं है, बल्कि पुलिस खुद को सुरक्षित नहीं महसूस कर रहे हैं. उत्तर प्रदेश के हालात का जिक्र करते हुए मायावती ने केंद्र सरकार और राज्यपाल से सूबे की हित में संवैधानिक फैसला लेने की अपील की.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
परिवारवाद को बढ़ावा दे रही है सपा
बसपा प्रमुख ने कहा कि सपा के संरक्षण में प्रदेश में गुंडे फल फूल रहे हैं. एक के बाद एक वारदात हो रही है लेकिन सपा प्रमुख चुप रहते हैं. मायावती ने कहा कि जबतक सपा सरकार अपने मंत्रिमंडल से आपराधिक छवि वाले नेताओं को बाहर नहीं करती है, तब तक प्रदेश के हालात में बदलाव संभव नहीं है. मायावती ने कहा कि अगर समाजवादी पार्टी गुंडों को जेल भेजना शुरू करेगी तो प्रदेश की सभी जेल छोटी पड़ जाएंगी. उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी परिवारवाद को बढ़ावा दे रही है और पार्टी के नेता अपने अस्तित्व की लड़ाई लड़ रहे हैं.
 
कौमी एकता दल पर सपा का नाटक 
कौमी एकता दल से पहले विलय बाद में विघटन पर हमला करते हुए मायावती ने कहा कि प्रदेश की जनता सपा की इस नाटक को अच्छे से समझती है और इससे सपा को कोई फायदा नहीं होने वाला है. सपा जनता को गुमराह करने की कोशिश कर रही है. मायावती ने कहा कि सपा अगर सच में गुंडों के खिलाफ कार्रवाई करना चाहती है तो पहले डीपी यादव, मुख्तार अंसारी जैसे नेताओं पर कार्रवाई करे.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
बसपा प्रमुख ने कहा कि सपा सरकार में परिवारवाद को बढ़ावा मिल रहा है साथ ही सरकार के संरक्षण में गुंडे फल फूल रहे हैं, जनता तो दूर की बात है पुलिसकर्मी भी खुद को उत्तर प्रदेश में सुरक्षित नहीं महसूस कर रहे हैं और इस खेल में बीजेपी भी सपा का साथ दे रही है.