मिर्जापुर. उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर पहुंचे बिहार के मुख्यमंत्री और जनता दल-युनाइटेड के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने कहा कि कैराना मुद्दे पर सपा-बीजेपी दोनों राजनीति कर रही हैं. उन्होंने कहा कि दिल्ली में बैठे लोग धरम-करम की बात करते हैं और वे चुनाव आने पर सांप्रदायिक ध्रुवीकरण के हथकंडे अपनाने लगते हैं. इसी की कड़ी है कैराना के पलायन का मुद्दा. वहां के लोग रोजगार की तलाश में दूसरे शहरों में जाते हैं. इस मुद्दे पर सपा-बीजेपी दोनों राजनीति कर रही है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
‘संघ-मुक्त बनाना है देश’
सम्मेलन में बिहार सीएम ने कहा कि बीजेपी के लोग अब सरदार वल्लभ भाई पटेल का नाम लेने लगे हैं. उन्हें शायद यह पता नहीं है कि सबसे पहले सरदार पटेल ने ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) पर पाबंदी लगाई थी. नीतीश ने कहा, “हम सरदार पटेल को मानने वाले लोग हैं, इसलिए संघ-मुक्त देश की बात कर उनके बताए रास्ते पर चल रहे हैं.”
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
‘UP में रुका विकास का पहिया’
उन्होंने यूपी में भ्रष्टाचार, बेरोजगारी और विकास का पहिया रुके होने के लिए बीजेपी, सपा व बसपा को जिम्मेदार ठहराया और कहा कि तीनों दल जनता को गुमराह करते रहे हैं, सरकार बदलती है लेकिन हालात जस के तस हैं. उन्होंने जनता से इन तीनों दलों से उत्तर प्रदेश को मुक्त करने का आह्वान भी किया.