नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी गुलाम नबी आजाद आज सोनिया गांधी से मुलाकात करेंगे. यूपी का प्रभारी बनने के बाद से आजाद राज्य के दौरे पर थे. आजाद ने राज्य के नेताओं से कई दौर की मुलाकात के बाद अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर रिपोर्ट तैयार की है जिसे वो सोनिया को सौंंपेंगे.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की हालत पतली है और पार्टी 1989 के बाद से राज्य की सत्ता से बाहर है. राज्य में पार्टी मुख्य विपक्षी दल भी नहीं है. ऐसे में पार्टी की पूरी कोशिश है कि या तो बढ़िया गठबंधन बनाकर वो पार्टनरशिप में ही सही लेकिन यूपी की सत्ता में वापसी करे या फिर कम से कम विपक्षी बेंच में अपनी ताकत बढ़ाए. 
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
गुलाम नबी आज़ाद को यूपी का प्रभारी बनाने के बाद से ही इस बात के कयास लगाए जा रहे हैं कि अब कांग्रेस का यूपी प्लान आज़ाद के हिसाब से चलेगा, ना कि राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर के तरीके से. प्रशांत किशोर के बढ़ते दखल से परेशान नेताओं को आज़ाद के आने से राहत मिली है.
 
वैसे पार्टी के मौजूदा प्रदेश अध्यक्ष निर्मल खत्री आज़ाद के द्वारा बुलाई गई बैठक में नहीं पहुंचे और अपना मोबाइल भी ऑफ कर लिया था. कहा जा रहा है कि पार्टी यूपी में जितिन प्रसाद को प्रदेश अध्यक्ष बना सकती है जिससे खत्री नाराज़ हैं. वैसे, गुलाम नबी ने कहा कि खत्री ने उनसे बात की थी और वो बीमार होने की वजह से बैठक में नहीं आए.