मुंबई. कभी बीजेपी की सहयोगी रही शिवसेना ने मोदी के अमेरिका दौरे पर चुटकी ली है. शिवसेना ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बराक ओबामा की दोस्ती को लेकर कहा है कि यदि ओबामा भारत में ही बस जाएं तो कोई आश्चर्य करने वाली बात नहीं होगी.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में कहा, “अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा और मोदी बड़े ही गहरे मित्र बन गए हैं. उनकी दोस्ती जगजाहिर हो गई है. उनकी दोस्ती इतनी गहरी है कि 2017 में अपना कार्यकाल समाप्त होने के बाद ओबामा भारत में सूरत, सूरत, राजकोट, पोरबंदर, मनाली, महाबलेश्वर या दिल्ली में बस जाएं तो कोई हैरानी वाली बात नहीं होगी.”
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
‘पहले कभी नहीं रहे ऐसे रिश्ते’
 
सामना के संपादकीय में यह भी कहा गया है कि इससे पहले अन्य किसी प्रधानमंत्री के अमेरिका के साथ इतने गहरे रिश्ते नहीं रहे हैं. साथ ही कहा गया कि अमेरिका दोहरे रवैया का है. लादेन ने जब अमेरिका पर हमला किया तो अमेरिका ने चुपचाप तरीके से लादेन को मार दिया, वहीं जब भारत के मामले में वह पाकिस्तान को केवल चेतावनी देता है. 
 
बता दें प्रधानमंत्री बनने के बाद मोदी ओबामा से 7 बार मिल चुके हैं.