महाराष्ट्र. महाराष्ट्र में बीजेपी की सहयोगी दल शिवसेना ने एक बार फिर से अपने मुखपत्र ‘सामना’ के जरिए मोदी सरकार पर निशाना साधा है. पार्टी ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ में सरकार को नसीहत देते हुए लिखा है कि कब तक भारत अमरीका से सिर्फ कर्ज लेना या हवाई जहाज लेना सीखेगा? भारत को अमरीका से सीखना चाहिए कि किस तरह दुश्मन पर हमला करते हैं.
 
अमेरिका से सबक ले भारत: सामना
सामना में लिखा है कि क्या हमने अमेरिका से सिर्फ कर्ज लेना, उधारी आदि सीखा या फिर उसकी रक्षा पंक्ति के हवाई जहाज को लेकर कुछ सीखा है. अमरीका ने इस मामसे में हिम्मत दिखाई है. तालिबान के प्रमुख मुल्ला अख्तर मंसूर को अमरीका ने अब पाकिस्तान में घुसकर मौत की नींद सुला दिया. इसी तरह की हिम्मत उसने 2011 में ओसामा बिन लादेन के खिलाफ दिखाई थी. इसके अलावा यह भी कहा कि अन्य मौकों पर शेखी बघारने वाले भारत को अब अमरीका की इस कार्रवाई से सबक लेना चाहिए.
 
पाकिस्तान पर भी निशाना
शिवसेना ने पाकिस्तान पर भी हमला बोलते हुए कहा कि समझदार को शब्दों की मार पर्याप्त होती है, लेकिन पाकिस्तानी आतंकवादियों को बंदूक की भाषा ही समझ आती है. इसलिए तरह की तरह के कदम उठाए बिना अब हिंदुस्तान का भविष्य सुरक्षिकत नहीं रहेगा.
 
‘ओबामा के प्रेम में पड़े हैं मोदी’
सामना के संपादकीय में लिखा गया है कि  हमारे प्रधानमंत्री मोदी ओबामा के प्रेम में पड़े हैं, उन्होंने अमरीका से क्या सीखा? क्या लिया? तो सिर्फ कर्ज, उधारी या रक्षा दल के लिए हवाई जहाज. ऐसे में इन सब चीजों को खरीदते समय अमरीका नाम महासत्ता विदेशी मुल्कों में घुसकर सीधे दुश्मनों का खात्मा कर देती है, यह हिम्मत कम-से-कम उधारी पर मिलती है क्या?