नई दिल्ली. वित्त मंत्री अरूण जेटली ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस की समस्या परिवारवाद है. जेटली ने कहा कि कांग्रेस को फैसला करना है कि उसके आगे का सफर क्या है. क्या वह वंशवादी लोकतंत्र बनी रहेगी या गुण आधारित नेतृत्व होगा?
 
एक कार्यक्रम के दौरान जेटली ने कहा, परिवार से घिरी रहकर इतने बड़े देश में कोई भी बड़ी राजनीतिक पार्टी कायम नहीं रह सकती. उन्हें फैसला करना होगा क्या वे ढांचागत राजनीतिक दल चाहते हैं या परिवार से घिरी पार्टी चाहते हैं.
 
हालांकि कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने जेटली के बयान पर निशाना साधते हुए कहा कि क्या BJP के वरिष्ट नेता तय करेंगे कि कांग्रेस का अध्यक्ष कौन होगा? कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव होता है तो क्या किसी को चुनाव लड़ने से रोका गया है?  सिंह ने कहा, संगठनात्मक चुनाव कांग्रेस में होता है. अगर जेटलीजी के साथ कोई नेता संपर्क में है तो उन्हें उनको चुनाव लड़ने के बारे में बताना चाहिए. कांग्रेस के आंतरिक मसलों पर BJP को चिंता करने की जरूरत नहीं है.