चेन्नई. तमिलनाडु की 234 सीटों में 232 सीटों पर ही चुनाव कराए जा रहे हैं. रिपोर्ट्स के मुताबिक चुुनाव अधिकारियों ने 100 करोड़ की नकदी जब्त की है जिसके चलते दो सीटों पर चलते चुनाव टाल दिए गए हैं.
 
बता दें कि तमिलनाडु के अरवाकुरूची और तंजावुर विधानसभा क्षेत्र में चुनाव 23 मई को कराए जाएंगे और नतीजे 25 मई को घोषित किए जाएंगे.
 
रिपोर्ट्स के मुताबिक अधिकारियों ने बिना लेखा-जोखा की जो नकदी जब्त की है वह उन पांच राज्यों में सबसे अधिक है, जहां पिछले महीने विधानसभा चुनाव हुए हैं. तंजावुर में चुनाव आयोग ने 13 मई के दिन विभिन्न जगहों से क़रीब 35 लाख और 14 मई को लगभग 1.40 करोड़ रुपये चुनाव में जीत के लिए दिए जाने की बात स्वीकारी है जिनमें 21 लाख जब्त किए गए हैं
 
बता दें कि केरल, तमिलनाडु और पुडुचेरी में विधानसभा चुनाव की वोटिंग शुरु हो गई है. इन विधानसभा चुनाव को अहम चुनाव भी माना जा रहा है. क्योंकि यह चुनाव पिछले दो महिने से प्रचार में जुटे जयललिता, ओमन चांडी, एम करुणानिधि और वीएस अच्युतानंदन के राजनीतिक भविष्य तय करेंगे.
 
जहां वर्तमान मुख्यमंत्री जयललिता का मुकाबला एम करुणानिधि से है वहीं केरल में ओमन चांडी का मुकाबला अच्युतानंदन से है. इस बीच बीजेपी ने भी इन राज्यों में प्रचार में कमी नहीं छोड़ी है और वह भी तमिलनाडु और केरल में पदार्पण करने में जुटी है.
 
तमिलनाडु में सत्ता एआईडीएमके और डीएमके के बीच तथा केरल में कांग्रेस-नीत संयुक्त लोकतांत्रिक मोर्चा (यूडीएफ) और माकपा-नीत वाम लोकतांत्रिक मोर्चा (एलडीएफ) के बीच ही आती-जाती रही है. बता दें कि इन चुनावों के नतीजे 19 मई को घोषित किए जाएंगे.