नई दिल्ली. बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती ने अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर घोटाले में सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में जांच की मांग की और कहा कि केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) सरकार की राजनीतिक हथियार बन गई है. मार्क्‍सवादी कम्यूनिस्ट पार्टी ने मायावती की मांग का समर्थन किया है और पार्टी के सांसद तपन कुमार सेन ने राज्यसभा में इस मुद्दे पर उनका समर्थन किया है.
 
मायावती ने राज्यसभा में इस मुद्दे पर जारी बहस के दौरान कहा, “पिछले कुछ सालों से यह एक धारणा बन गई है कि सीबीआई का राजनीतिकरण हो गया है और जो भी पार्टी केंद्र की सत्ता में होती है, वह इसका इस्तेमाल अपने विरोधियों के खिलाफ करती है. यह एक गंभीर मामला है जिसका लंबे समय तक असर रहेगा. इसलिए हमारी पार्टी अगस्तावेस्टलैंड सौदे की सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में जांच की मांग करती है.”
 
इस मुद्दे पर नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए मायावती ने कहा कि दो सालों से भारतीय जनता पार्टी नीत गठबंधन सरकार में है और इस मामले में जांच एजेंसी अभी तक किसी तथ्य में भी स्पष्टता सामने नहीं ला पाई है. मायावती ने कहा, “सरकार अगर चाहती तो जांच में तेज लाई जा सकती थी.” उन्होंने कहा कि सदन में इस मुद्दे को तभी लाया जाना चाहिए था जब जांच एजेंसी इस मामले में अपनी जांच पूरी कर रिपोर्ट दे देती.