नई दिल्ली. छह साल पुराने अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकॉप्टर डील में हुए घोटाले को लेकर बीजेपी ने बुधवार को संसद में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और अन्य नेताओं को घेरने की योजना बनाई है. उत्तराखंड मामले में संसद की कार्यवाई बाधित कर रही कांग्रेस के लिए यह मुद्दा मुश्किल खड़ी कर सकता है. बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने संसद में डिबेट के लिए नोटिस दिया है.
 
इटली की कोर्ट ने सोनिया का नाम लिया
इटली के मिलान कोर्ट ने अपने फैसले में कहा है कि 3600 करोड़ रुपए की इस हेलिकॉप्टर डील में करप्शन हुआ था. कोर्ट ने जजमेंट में चार बार सिग्नोरा (सोनिया) गांधी और दो बार मनमोहन सिंह का भी नाम लिया है. बीजेपी ने सोनिया से सफाई मांगी है. पूर्व वायुसेना प्रमुख एसपी त्यागी को अगस्टा वेस्टलैंड डील में भ्रष्टाचार के मामले में इटली की अदालत में दोषी ठहराए जाने के बाद मामले ने तूल पकड़ लिया है. रक्षा मंत्रालय ने रोम में भारतीय दूतावास से कोर्ट के फैसले को लेकर रिपोर्ट तलब की है. इटली की अदालत में ऐसे दस्तावेज सामने आए हैं, जिसमें ‘सिगनोरा गांधी’ का नाम है.
 
फैसले में लॉबिंग का जिक्र
रिपोर्ट्स के मुताबिक, इटली की अदालत ने फैसले में इस बात का जिक्र किया कि किस तरह अगस्टा वैस्टलैंड ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उनके सहयोगियों के साथ सौदे को लेकर लॉबिंग की.इस डील को लेकर कोर्ट में जो दस्तावेज सामने आए उनमें सोनिया गांधी, उनके राजनीतिक सचिव अहमद पटेल, वरिष्ठ कांग्रेस नेता ऑस्कर फर्नांडीज का भी नाम है. 
 
इंटरपोल की मदद लेगी CBI
जैसा कि अब तक साफ हो चुका है कि अगस्टा वेस्टलैंड मामले में भारतीय अधिकारियों ने करीब 3600 करोड़ रुपये की रिश्वत ली थी, इसे देखते हुए सीबीआई ने दोषियों पर नकेल कसना शुरू कर दिया है. इस सौदेबाजी के बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल की गिरफ्तारी के लिए सीबीआई इंटरपोल की मदद लेगी. एजेंसी ने इंटरपोल से मिशेल को गिरफ्तार करने को कहा है. वह फिलहाल ब्रिटेन में रहता है. उसके खिलाफ 4 जनवरी को रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया गया था. बताया जा रहा है कि मिशेल ने रिश्वत के तौर पर करीब 220 करोड़ रुपये (30 मिलियन यूरो) भारत भेजे थे. जो पूर्व वायुसेना प्रमुख एसपी त्यागी और उनके परिवार के लोगों को दिए गए थे.
 
क्या है मामला?
यूपीए-1 सरकार के वक्त 2010 में अगस्ता वेस्टलैंड से वीवीआईपी के लिए 12 हेलिकॉप्टरों की खरीद की डील हुई थी. डील के तहत मिले 3 हेलिकॉप्टर आज भी दिल्ली के पालम एयरबेस पर खड़े हैं. इन्हें इस्तेमाल में नहीं लाया गया. डील 3,600 करोड़ रुपए की थी. टोटल डील का 10% हिस्सा रिश्वत में देने की बात सामने आई थी. इसके बाद यूपीए सरकार ने फरवरी 2010 में डील रद्द कर दी थी. तब एयरफोर्स चीफ रहे एसपी त्यागी समेत 13 लोगों पर केस दर्ज किया गया था.
जिस मीटिंग में हेलिकॉप्टर की कीमत तय की गई थी, उसमें यूपीए सरकार के कुछ मंत्री भी मौजूद थे. इस वजह से कांग्रेस पर भी सवाल उठे थे.