नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार दो साल में करीब सवा दो लाख केंद्रीय कर्मचारियों की भर्ती करने जा रही है. 1 मार्च 2015 के आकड़े के मुताबिक खाली पोस्ट्स के लिए ये भर्ती की जाएगी. पीएमओ के पर्सनल डिपार्टमेंट की मानें तो केंद्र के कई विभागों में 6 लाख से ज्यादा पद खाली पड़े हुए है. पीएमओ के पर्सनल डिपार्टमेंट के मुताबिक 1 मार्च, 2015 को केंद्रीय कर्मचारियों की संख्या 33.05 लाख थी, जो 2016 में बढकर 34.93 लाख हो गई है.
 
2016-17 के बजट अनुमान के मुताबिक, 2017 में सेंट्रल गवर्नमेंट के इम्प्लॉइज की संख्या बढक़र 35.23 लाख हो जाएगी. इस बढ़ोतरी में रेलवे शामिल है लेकिन डिफेंस फोर्सेस को बाहर रखा गया है. रिपोर्ट के मुताबिक इनकम टैक्स, कस्टम और एक्साइज में सबसे ज्यादा 70 हजार पोस्ट्स भरी जाएंगी. सेंट्रल पैरामिलिट्री फोर्सेस में 47 हजार लोगों को भर्ती किया जाएगा.
 
होम मिनिस्ट्री में 6 हजार लोगों को अप्वाइंट किया जाएगा. इन सबके अलावा कैबिनेट सेक्रेटरिएट में 301 इम्प्लॉइज और शामिल होंगे. केंद्र सरकार के कई डिपार्टमेंट्स स्टाफ की कमी से जूझ रहे हैं. इसकी मुख्य वजह यह है कि पिछले कई साल से ग्रुप बी और ग्रुप सी कैटेगरी में रिकू्रटमेंट्स नहीं हुए हैं. पर्सनल मिनिस्ट्री के मुताबिक, अब इन कैटेगरीज में काफी भर्तियां होनी है.