नई दिल्ली. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गैर संघवाद वाले बयान का बीजेपी और आरएसएस के नेताओं ने विरोध किया है. RSS विचारक राकेश सिन्हा ने कहा कि नीतीश कुमार एक हसीन सपना देख रहे हैं. और सपने देखने का हक सबको है. उन्होंने कहा कि ऐसा सपना देख रहे कई लोग हाशिए में चले गए हैं. नीतीश की तुलना जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार से करते हुए राकेश सिन्हा ने कहा कि वह जुमलेबाजी का कॉम्पटिशन कर रहे हैं.  
 
राकेश ने नीतीश पर हमला बोलते हुए कहा, ’17 साल तक संघ की बैसाखी से राजनीति में सफलता पाने वाले नीतीश जी का जब राजनीति में वानप्रस्थ जीवन का समय आ गया है तभी यह ज्ञान हुआ है’. 
 
केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने नीतीश पर पलटवार करते हुए कहा है कि नीतीश को मोदी सरकार का काम हजम नहीं हो रहा है. उन्होंने कहा कि बिहार के मुख्यमंत्री बीजेपी का नहीं बल्कि गरीबों और पिछड़ों के विकास का विरोध कर रहे हैं.  
 
 
बता दें कि नीतीश कुमार ने ‘संघ मुक्त’ भारत की बात करते हुए ‘लोकतंत्र की रक्षा’ के लिए गैर बीजेपी दलों के एकजुट होने की अपील की थी. पटना में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए नीतीश ने कहा था कि ‘संघ मुक्त’ भारत बनाने के लिए सभी गैर बीजेपी दल को एक होना होगा.