इस्लामाबाद. पाकिस्तान के कराची शहर में बुधवार को अज्ञात हमलावरों ने एक बस पर अंधाधुंध गोलियां बरसाई, जिसमें बस में सवार 43 लोगों की मौत हो गई और 13 अन्य लोग घायल हुए हैं. भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हमले की कड़ी निंदा की है। हमला प्रांतीय राजधानी सिंध में स्थित शफूरा चौक इलाके के नजदीक हुआ.

सिंध के पुलिस महानिरीक्षक गुलाम हैदर जमाली ने बताया कि बस में 60 लोग सवार थे. अस्पताल से जुड़े सूत्रों ने कहा कि मृतकों में 16 महिलाएं भी शामिल हैं. बस में कोई बच्चा सवार नहीं था. एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि मोटरसाइकिल पर आए आठ अज्ञात हमलावरों ने बस पर अंधाधुंध गोलियां बरसाईं. वे मौके से भाग निकलने में सफल रहे.

वीडियो फुटेज में बस पर गोलियों के निशान नहीं दिख रहे हैं, इस वजह से माना जा रहा है कि हमलावरों ने बस में घुसकर गोलियां चलाई होंगी. पाकिस्तान सैन्य प्रमुख जनरल राहील शरीफ ने हमले के बाद अपना श्रीलंका दौरा रद्द कर दिया है. उन्हें बुधवार को श्रीलंका रवाना होना था. प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और सिंध के मुख्यमंत्री सैयद कैम अली शाह ने हमले की निंदा की है. वहीं, भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी हमले की निंदा की.

मोदी ने ट्विटर पर लिखा, “कराची में हमला होना बेहद दुखद एवं निंदनीय है। हमारी हमदर्दी मृतकों के परिवारों के साथ है.” उन्होंने लिखा, “हम इस दुख की घड़ी में पाकिस्तान के लोगों के साथ कंधे से कंधे मिलाकर खड़े हैं। मैं घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं.”

IANS