नैनीताल. नैनीताल हाईकोर्ट ने उत्तराखंड में राष्ट्रपति शासन रोक लगा दी है. इसके अलावा हाईकोर्ट ने विधानसभा अध्यक्ष की मांग को स्वीकार करते हुए मुख्यमंत्री हरीश रावत को 31 मार्च को बहुमत साबित का मौका दिया है.

हाईकोर्ट ने कांग्रेस के नौ बागी विधायकों को भी वोटिंग का अधिकार दिया है लेकिन उनके वोट अलग रखे जाएंगे. बहुमत परीक्षण के दौरान हाईकोर्ट के पर्यवेक्षक मौजूद रहेंगे.

सोमवार को हरीश रावत ने राज्यपाल से मुलाकात की और अपने साथ 34 विधायक होने का दावा किया था. अपने दावे को पुख़्ता करने के लिए रावत ने विधायकों की साइन की हुई चिट्ठी भी सौंपी थी.