नई दिल्ली: उत्तराखंड की राजनीति में काफी कुछ उथल पुथल हो रहा है. बीजेपी के नेता आज राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी से मिलकर उत्तराखंड की सरकार को बर्खास्त करने की मांग करेंगें. बीजेपी नेता मुख्यमंत्री के स्टिंग आपरेशन को भी राष्ट्रपति के सामने रखेंगे. बीजेपी नेताओं ने कहा कि हरिश रावत को सत्ता में एक क्षण भी रहने का अधिकार नहीं है. हमने राज्यपाल को बताया था कि प्रदेश सरकार खरीद-फरोख्त में संलग्न होगी. हमारी समझ में यह नहीं आ रहा है कि विधानसभा में बहुमत साबित करने के लिए इतना समय क्यों दिया गया. बीजेपी नेता राष्ट्रपति से 7:15 मिनट पर मुलाकात करेंगे.
 
उत्तराखंड में लागू हो राष्ट्रपति शासन
उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुण ने उत्तराखंड सरकार को तुरंत बर्खास्त कर राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू करने की मांग की है. बहुगुणा मुख्यमंत्री हरीश रावत के खिलाफ बागियों का नेतृत्व कर रहे हैं. बहुगुणा ने कहा, “मुख्यमंत्री को तुरंत इस्तीफा दे देना चाहिए. अगर वह इस्तीफा नहीं देते हैं तो मैं राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू करने का आग्रह करता हूं और उसके बाद ताजा चुनाव कराया जाना चाहिए.”
 
उत्तराखंड में BJP ने अपनाया शर्मनाक हथकंडा 
उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत का समर्थन करते हुए कांग्रेस ने शनिवार को बीजेपी पर फर्जी स्टिंग का वीडियो जारी करने आरोप लगाया. कांग्रेस ने कहा कि बीजेपी राज्य सरकार को बदनाम करने के लिए शर्मनाक हथकंडा अपना रही है. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि विधानसभा अध्यक्ष गोविंद सिंह कुंजवाल के नोटिस के खिलाफ उच्च न्यायालय में बागियों की याचिका खारिज होने के बाद भाजपा अब राज्य सरकार को बदनाम करने के लिए ‘गंदी’ राजनीति कर रही है. 
 
क्या है स्टिंग में ?
बताया जा रहा है कि रावत के सामने बैठा शख्स विधायकों की खरीद-फरोख्त की बात कर रहा है. सामने बैठा शख्स बोल रहा है, ‘दो से मंत्री पद की बात हो गई है.’ “कितना कैश… आप देख लें” 
 
जवाब में सीएम रावत कहते है, ‘मैं 5 से ज्यादा नहीं दे सकता.’ फिर सामने बैठा शख्स कहता है, ‘सर 5 आप दे दोगे और 10 मैं व्यवस्था कर लूंगा.’