नई दिल्ली. केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने शनिवार को कहा कि दिल्ली में आप सरकार की गतिविधियां लोकतंत्र विरोधी होने का प्रमाण देती हैं, जो भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के लिए अपना खोया जनाधार पाने का एक बेहतरीन अवसर है. जेटली ने यहां बीजेपी की कार्यकारिणी की बैठक के उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए कहा, “अरविंद केजरीवाल सरकार की गतिविधयां बताती हैं कि यह लोकतंत्र विरोधी पार्टी है. हम दिल्ली में कुछ प्रतिशत वोट कहीं और चले जाने के कारण हार गए, पर अब हम इन्हें फिर से पा रहे हैं.” 
 
उन्होंने केजरीवाल सरकार के काम करने के दावों पर भी सवाल उठाए और कहा कि लोग व्यवस्था से निराश हैं. जेटली ने कहा, “दिल्ली ने भारी जनादेश दिया, लेकिन आज लोग विकास को लेकर सवाल कर रहे हैं. लोग देख रहे हैं कि केजरीवाल सही तरीके से काम का अंजाम नहीं दे रहे हैं.” वित्त मंत्री ने कहा, “कांग्रेस की कोई गिनती ही नहीं है. बीजेपी के लिए अपने राजनीतिक मुकाम को दोबारा पाने का एक अच्छा अवसर है. लोग दिल्ली की सरकार से निराश हैं. यह लोगों का ध्यान खींचने का माकूल समय है.” 
 
जेटली ने बीजेपी कार्यकर्ताओं से नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार की उपलब्धियों को जन-जन तक पहुंचाने और दिल्ली सरकार को बेनकाब करने के लिए भी कहा. जेटली ने कहा, “दिल्ली बीजेपी को भावी चुनावों के लिए अच्छे वक्ताओं का एक समूह बनाने और अच्छे चेहरे तैयार करने की जरूरत है. प्रदेश बीजेपी को अराजकतावादी (केजरीवाल) सरकार को बेनकाब करना चाहिए और अपना जनाधार वापस पाना चाहिए.” उन्होंने कहा, “पार्टी को दिल्ली के कार्यकर्ताओं पर भरोसा है. चलिए हम सब एकजुट हों.”