जम्मू. जम्मू कश्मीर में बीजेपी के साथ मिलकर सरकार गठन पर चर्चा के लिए हुई पीडीपी की बैठक में पार्टी विधायकों ने महबूबा मुफ्ती को सर्वसम्मति से अपना विधानसभा का नेता चुन लिया है. इस तरह पीडीपी प्रमुख महबूबा के राज्य की पहली महिला मुख्यमंत्री बनने का रास्ता लगभग साफ हो गया है.

बैठक से कुछ घंटों पहले महबूबा दक्षिणी कश्मीर के अनंतनाग जिले में स्थित अपने पुस्तैनी शहर बिजबेहरा में अपने पिता एवं राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद की कब्र पर भी गई.

पीडीपी के एक नेता ने बताया, ‘जम्मू-कश्मीर में बीजेपी के साथ गठबंधन सरकार के संदर्भ में आखिरी फैसला करने से पहले महबूबा दुआ मांगने के लिए बिजबेहरा स्थित पिता की कब्र पर गईं.’

इससे पहले बीजेपी ने बुधवार को साफ शब्दों में कहा था कि उसे सरकार गठन के लिए पीडीपी की कोई नई शर्त मंजूर नहीं. इसके साथ ही उसने साफ किया था कि सरकार गठन के लिए अगला कदम पीडीपी को ही उठाना है.

उधर बीजेपी महासचिव राम माधव और प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्यमंत्री जितेंद्र सिंह भी राज्य की मौजूदा राजनीतिक स्थिति की समीक्षा के लिए पार्टी विधायकों के साथ बैठक करेंगे और राज्य के राज्यपाल के साथ बैठक से पहले उनकी राय जानेंगे.

राज्य में बीजेपी और पीडीपी ने पिछले साल मार्च से इस साल जनवरी तक 10 महीने की गठबंधन सरकार चलाई थी. हालांकि बीते सात जनवरी को मुफ्ती मोहम्मद सईद के निधन के बाद से सरकार के गठन को लेकर उहापोह की स्थिति बनी हुई है और वहां राज्यपाल शासन लागू है.