देहरादून. पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा के बेटे साकेत बहुगुणा को कांग्रेस ने 6 साल के लिए पार्टी से बाहर निकाल दिया है. कांग्रेस आलाकमान ने साकेत बहुगुणा के अलावा उत्तराखंड कांग्रेस के जनरल सेक्रेटरी अनिल गुप्ता को भी पार्टी ने बाहर का रास्ता दिखा गया है.

दोनों नेताओं को 6 साल के लिए पार्टी से बाहर निकाला गया है. पार्टी का कहना है कि दोनों पिछले काफी दिनों से पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल थे. विजय बहुगुणा और हरक सिंह रावत की अगुवाई में 9 विधायकों ने पार्टी के खिलाफ बगावत कर दी है. जिससे कांग्रेस सकते में आ गई है.

बागी विधायकों ने बीजेपी के साथ जाने का संकेत दिया है. इसी क्रम में विजय बहुगुणा ने बीजेपी नेता भगत सिंह कोशियारी से मुलाकात भी की. बागी विधायकों ने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से मिलने का वक्त मांगा है. ये मुलाकात सोमवार शाम हो सकती है. विजय बहुगुणा का कहना है कि राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से मिलने के बाद ही आगे की रणनीति तय करेंगे.

उत्तराखंड कांग्रेस में बगावत का सामना कर रहे मुख्यमंत्री हरीश रावत को राज्यपाल ने 28 मार्च तक बहुमत साबित करने को कहा है. हरक सिंह रावत की अगुवाई में कांग्रेस विधायकों के एक गुट के बगावत के बावजूद हरीश रावत ने दावा किया है कि बहुमत उनके साथ है और बीजेपी के कई बागी विधायक उनके संपर्क में हैं. वहीं कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने बीजेपी पर लोकतंत्र के साथ खिलवाड़ का आरोप लगाया.