पटना. जेल में सजा काट रहे आरजेडी के नेता रहे और पूर्व बाहुबली सांसद शहाबुद्दीन पर विवाद छिड़ गया है. सवाल उठ रहे हैं कि क्या शहाबुद्दीन नीतीश की सरकार चला रहे हैं?
 
ये सवाल एक तस्वीर से उठा है जिसमें आरजेडी कोटे से मंत्री अब्दुल गफूर ने सीवान जेल में शहाबुद्दीन से मुलाकात की है. इस मुलाकात के बाद से मामले ने तूल पकड़ लिया है. इस बीच जब बीजेपी ने सवाल उठाया तो आरजेटी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने कहा खड़ा करने दो सवाल.
 
जानकारी के अनुसार तस्वीर ने बिहार में सियासी संग्राम मचा दिया है. शहाबुद्दीन को बिहार के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री अब्दुल गफूर के साथ नाश्ता करते हुए देखा जा रहा है.
 
6 मार्च को हुई इस मुलाकात के बाद बीजेपी ने आरोप लगाया है कि नीतीश सरकार जेल में बैठे शहाबुद्दीन के इशारे पर काम कर रही है. बिहार कांग्रेस अध्यक्ष और नीतीश सरकार में मंत्री अशोक चौधरी ने कहा है कि अगर अब्दुल गफूर ने कुछ गलत किया तो उस पर उचित कार्रवाई होगी.
 
बता दें कि सीवान जेल में उम्र कैद की सजा काट रहे हैं. शहाबुद्धीन पर हत्या के तीन मामले दर्ज हैं साथ ही उनके ऊपर हत्या की कोशिश के 9 मामले दर्ज हैं.