लखनऊ. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह गुरुवार सुबह लखनऊ पहुंचकर पार्टी मुख्यालय के नए तरीके से तैयार किए गए कार्यालय क उद्धाटन भी किया. उन्होंने यहां पार्टी कार्यकर्ताओं से मुलाकात भी की. नए कार्यालय के उद्घाटन के बाद शाह ने कहा, “देशद्रोही नारों पर सख्त कार्रवाई से पीछे हटने का सवाल नहीं उठता.” शाह ने कहा कि मीडिया भी राहुल से पूछे कि जेएनयू के नारे देश विद्रोही हैं ‌कि नहीं? बीजेपी के कार्यकर्ताओं से शाह ने कहा कि इस मुद्दे को आम आदमी के बीच ले जाएं.
 
नए कार्यालय के उद्घाटन के बाद शाह ने कहा, “यहां का कार्यालय आधुनिक तकनीक से बना है. मैंने प्रभारी रहते हुए इस बारे में सोचा था. अब इस कार्यालय में सभी सुविधाएं मौजूद हैं.” पार्टी अध्यक्ष ने कहा कि इस साल दिसंबर तक देशभर के सभी जिला मुख्यालयों पर पार्टी कार्यालय के लिए जमीन खरीद ली जाएगी. उत्तर प्रदेश में 40 जिलों में जमीन खरीद ली गई है. 
 
शाह ने कहा, “केंद्र में बीजेपी की सरकार बनने का पूरा श्रेय उत्तर प्रदेश को जाता है. सभी कार्यकर्ता मिलकर बीजेपी की विचारधारा को आगे बढ़ाएं.” उन्होंने कहा कि हमारे सामने उत्तर प्रदेश में 2017 में सरकार बनाने की चुनौती है. 
 
बीजेपी के नए कार्यालय में कुशाभाउ ठाकरे सभागार, माधव सभागार के नाम से दो ऑडीटोरियम बनाए गए हैं. कुशभाउ ठाकरे सभागार में 200 लोगों के एक बैठने की व्यवस्था है. चुनाव प्रबंधन रूम, विवेकानंद रूम, महामना लाइब्रेरी, आईटी सेल, सोशल मीडिया सेल, रिसर्च विंग भी अलग से बनाए गए हैं. 
 
इसके अलावा मीडिया कांफ्रेंस रूम को भी नया लुक दिया गया है. बाहरी नेताओं के ठहरने के लिए अलग से फाइव स्टार कमरों की व्यवस्था भी की गई है. उत्तर प्रदेश प्रदेश अध्यक्ष से लेकर हर पदाधिकारी के लिए अलग-अलग कमरों की व्यवस्था की गई है.