नई दिल्ली. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने संसद के बाहर मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि संसद में मैं जो कुछ कहूंगा उससे सरकार डरती है. इसलिए मुझे संसद में बोलने नहीं दिया जाता है. राहुल ने आगे कहा कि ‘आपने देखा होगा, मैं जब भी बोलता हूं, वह मुझे रोक दिया जाता है. ऐसा सिर्फ इसलिए है क्योंकि मैं जो बोलता हूं सरकार उससे घबराती है. लेकिन फिर भी संसद में जेएमयू मुद्दे पर बोलूंगा.
 
‘लोकसभा में दबाई जा रही है हमारी आवाज’
इससे पहले यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी सरकार पर लोकतांत्रिक तरीकों को कमजोर करने का आरोप लगाते हुए कहा था कि लगता है सत्तारुढ़ तंत्र पूरी तरह से संतुलन खो चुका है. सोनिया ने कांग्रेस कार्य समिति की बैठक में कहा था कि लोकसभा में हमारी आवाज दबाई जा रही है. सोनिया ने यह भी कहा कि सरकार जांच की भावना, पूछताछ की भावना, बहस और असहमति की भावना को नष्ट करने पर अडिग लगता है.
 
JNU मुद्दे पर राष्ट्रपति से मिल चुके हैं राहुल
जेएनयू विवाद पर कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव के लिए नोटिस दे चुके हैं. इसके अलावा इस मुद्दे को लेकर राहुल राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी से भी मुलाकात कर चुके हैं. साथ ही देशभर में इसे लेकर जगह- जगह प्रदर्शन हो रहे हैं.