नई दिल्ली. दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने अपने कानून मंत्री जीतेंद्र का बचाव करते हुए कहा है कि अगर थोड़ा-सा भी शक होता तो हम पहली पार्टी हैं, जिसने पिछले चुनाव में चुनाव से दो दिन पहले अपने राजौरी गार्डन के उम्मीदवार की टिकट काटकर सीट खाली छोड़ दी थी तो ऐसे में हम जीतेंद्र तोमर को क्यों बचाएंगे?

न्यूज पोर्टल जनता का रिपोर्टर को दिए इंटरव्यू ने पहली बार इस मुद्दे पर अपनी राय रखी. केजरीवाल ने मीडिया पर हमला करते हुए कहा कि तोमर ने अपना जवाब और दस्तावेज मीडिया को दिए, लेकिन किसी ने नहीं चलाए, बस हर चैनल ये चला रहा है कि क्या केजरीवाल अपने मंत्री को बर्खास्त करेंगे? इसका मकसद सिर्फ तोमर को बर्खास्त कराना है सच्चाई जानना नहीं.

केजरीवाल ने कहा कि जैसे ही पूरी मामला सामने आया उन्होने तोमर से लिखित सफाई मांगी, और तोमर का कहना है कि गलत रोल नंबर की जानकारी मांगे जाने के कारण ये स्थिति एक पूरे षडयंत्र के तहत बनाई जा रही है. केजरीवाल के मुताबिक, तोमर ने अपने भाई को प्रामाणिक दस्तावेज लेने के लिए भेजा है और कुछ दिन में वह आ जाएंगे.

इस पूरे मामले में केजरीवाल ने तोमर का बचाव करते हुए, जो बड़ी दलील रखी वह ये कि इस पर अभी तक कोर्ट ने कुछ नहीं कहा है, केवल मीडिया ही खबर चला रहा है इसलिए केजरीवाल मीडिया पर जमकर हमले करते हुए नज़र आए.

IANS