लखनऊ. बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) प्रमुख मायावती ने उत्तर प्रदेश में हुए जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव को ‘अप्रत्यक्ष चुनाव’ करार देते हुए इसे ‘चुनाव का उपहास’ कहा है. उन्होंने कहा कि जैसा लोगों को अंदेशा था, वैसा ही हुआ और सरकारी मशीनरी का, खासकर जिला स्तर पर दुरुपयोग कर जीती सपा ने अपनी पीठ आपने आप थपथपा ली है. 
 
मायावती ने कहा कि जिला पंचायत अध्यक्ष से पहले हुए पंचायत चुनाव में आम जनता ने बड़ी संख्या में इसमें भाग लेकर उनकी पार्टी को ‘नंबर एक’ पार्टी बनाया और सत्तारूढ़ सपा को बुरी तरह नकार दिया, लेकिन अप्रत्यक्ष तौर पर हुए जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में सपा सरकार व्यापक धांधली, छल-कपट व सत्ता का दुरुपयोग कर जीत हासिल करने का दावा करने से नहीं चूक रही है.
 
मायावती ने कहा कि बीएसपी व अन्य सूत्रों के मुताबिक, जिला प्रशासन ने सपा प्रत्याशियों के पक्ष में, अन्य पार्टियों के प्रत्याशियों के खिलाफ साम, दाम, दंड व भेद आदि हथकंडे इस्तेमाल करके उन्हें अधिकांश नामांकन तक भी नहीं करने दिया गया. उन्होंने कहा कि सपा के पिछले शासनकालों में भी ऐसा ही किया जाता था, लेकिन इस प्रकार की घोर धांधली वाली सपा की जीत खोखली है और इसी प्रकार की खोखली जीत का दावा सपा आगे चलकर प्रदेश में होने वाले अन्य अप्रत्यक्ष चुनाव में भी कर सकती है.
 
मायावती ने कहा कि हकीकत में सपा सरकार अपना आकर्षण अपने पहले साल में ही खो चुकी थी और अब इसका जनाधार भी बड़ी तेजी से विमुख हो चुका है, यह जग-जाहिर है और हर तरफ उजागर भी है.