नई दिल्ली. विदेश मंत्रालय के विश्वसनीय सूत्रों की माने तो पठानकोट हमले के बाद भारत-पाकिस्तान के बीच कुछ ही दिनों बाद होने वाली विदेश सचिव स्तर की वार्ता पर खतरा मंडराने लगा है. सूत्रों के मुताबिक भारत ने पठानकोट हमले से संबंधित सभी सबूत पाकिस्तान को सौंप दिए हैं और वे क्या कार्रवाई करेंगे इसका इंतज़ार कर रहा है. 
 
सूत्रों के मुताबिक कार्रवाई के लिए भारत ने पाकिस्तान को कोई डेडलाइन नहीं दी है लेकिन सबूतों ले प्रति उनकी प्रतिक्रिया का सीधा असर सचिव वार्ता पर पड़ना तय माना जा रहा है. बता दें कि पाकिस्तान ने 26/11 मुंबई हमलों के बाद भी इसी तरह के वादें किए थे लेकिन एक भी पूरा नहीं किया और इस बार अगर फिर उन्होंने ऐसा ही किया तो दोनों देशों के बीच शुरू हुई बातचीत फिर खतरे में पड़ सकती है.