नई दिल्ली. बीजेपी से निलंबित सांसद और पूर्व क्रिकेटर कीर्ति आजाद ने पार्टी के नोटिस का जवाब देते हुए कहा है कि डीडीसीए भ्रष्टाचार से पार्टी का कोई संबंध नहीं है इसलिए उन्हें बताया जाए कि उन्होंने पार्टी के खिलाफ क्या काम किया है.
 
 
बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को लिखे पत्र में कीर्ति ने कहा है कि 23 साल से वो पार्टी के समर्पित कार्यकर्ता रहे हैं और कभी उन पर कोई ऊंगली नहीं उठी. कीर्ति ने पत्र के जरिए पार्टी अध्यक्ष से उनके खिलाफ पार्टी विरोधी गतिविधि के उदाहरण और प्रमाण देने कहा है जिस पर वो अपनी सफाई देंगे.
 
 
कीर्ति ने पत्र में एक जगह लिखा है कि पार्टी के निलंबन आदेश में डीडीसीए की कोई चर्चा नहीं है लेकिन उनका मानना है कि डीडीसीए का मामला पार्टी से जुड़ा हुआ नहीं है और वो पार्टी गतिविधि के दायरे से बाहर है.
 
 
बीजेपी ने 23 दिसंबर को कीर्ति आजाद को पार्टी विरोधी गतिविधियों के आरोप में निलंबित कर दिया था. पार्टी ने 14 दिन के अंदर कीर्ति से पार्टी विरोधी गतिविधियों पर सफाई भी मांगी थी कि क्यों न उन्हें पार्टी से पूरी तरह निकाल दिया जाए.